সোমবার, এপ্রিল 22, 2024
HomeUpdateTrain ko Hindi mein kya Kahate Hain

Train ko Hindi mein kya Kahate Hain

Train ko Hindi mein kya Kahate Hain

Train ko Hindi mein kya Kahate Hain: आधुनिक युग में रेलगाड़ी हमारे लिए एक प्रमुख यातायात साधन है । रेल के माध्यम से हम लम्बे यात्रा तय करते है । लेकिन यात्रा के दौरान जो भी भाषा बोलचाल में व्यवहार करते है बह इंग्लिश या अपनी मातृभाषा में । भारत में ऐसे कम लोग ही होंगे जो ट्रेन के लिए हिंदी भाषा उपयोग करते है । वैसे भी भारत देश में अपनी राजकीय भाषा हिंदी होने के बावजूद भी ट्रेन की हिंदी शब्द की जानकारी नहीं होती है । तो चलिए आज आपको ट्रेन शब्द की शुद्ध जानकारी बता देते है ।

Train ko Hindi mein kya Kahate Hain
Train ko Hindi mein kya Kahate Hain

Why are computers important in our life? in 2023

ट्रेन को हिंदी में कहते है

लम्बे यात्रा को तय करने वाला ट्रेन को हिंदी में ” लौह पथ गामिनी ” कहते है । लौह पथ गामिनी का अर्थ लोहपथ (पटरी) पर चलने वाली ट्रेन और लौह का अर्थ लोहे की पटरी, गामिनी = वाहन । ट्रेन शब्द वास्तव में लोग हिंदी और इंग्लिश शब्द को मिश्रित करके बोलते है और यह ट्रेन शब्द हिंदी और इंग्लिश मिश्रित है । इसे भाषा से रेलगाड़ी भी कहते है ।

Train ko Hindi mein kya Kahate Hain

ट्रेन में लोग निश्चित होकर लंबी सफर तय करती है । एकसाथ हजार – हजार लोगों के सामान लेकर यात्रा की ओर निकलती है । रेलगाड़ी एक साथ बहुत सरे डिब्बों एक साथ खींच सकती है । ट्रेन का फुल फॉर्म है टूरिज्म रेलवे एसोसिएशन इंक (Tourism Railway Association Inc) होता हैं।

  • T – Tourism
  • R – railway
  • A – association
  • I – inc

ट्रेन का इतिहास

लगभग 18वा सदी में जब दुनिया बहुत तेजी से बदल रही थी । लोगों की विचार बदल रहे थे , लोंग अपने जिंदिगी को आसन बनाना चाहते थे और यह यूरोप में एक दौर था । साल 1772 में Thomas Newcomen ने एक इंजन का आविष्कार किया जो की बहुत ही सफल नहीं रहा।

फिर 1726 में जन्मे जेम्स वाट ने 1776 में Newcomen के सिद्धांत के उपर काम करते हुए स्टीम इंजन का आविष्कार किया । जो हमारे दुनिया के लिए बहुत बड़ा बदलाव साबित हुआ , हालांकि कुछ कारणों के बजह से इनकी कोशिश पूरी नहीं हुई । इस भाव इंजन की अविष्कार के बाद ही वैज्ञानिकों के सोच में बिना घड़ों की गाड़ी बनाने का ख्याल आया ।

फिर यूनाइटेड किंगडम के रहने वाले एक इंजीनियर Richard Trevithick ने पहली बार 21 फरवरी 1804 को एक भाव इंजन किया था लेकिन पूरी तरह सफल नहीं रहा । इसी तरह ओर भी इंजीनियरिंग ट्रेन इंजन आविष्कार करने की कोशिश की थी । उसके बाद 27 सितंबर 1825 को विश्व की पहेली सफल ट्रेन George Stephenson द्वारा बनाई गई थी।

Train ko Hindi mein kya Kahate Hain

भारत में ट्रेन

16 अप्रैल 1853 यह पहली यात्री ट्रेन बोरीबंदर मुंबई और ठाणे की बीच में 34 किलोमीटर दुरी पर चली थी । यह साहिब ,सुल्तान और सिंध नाम के तीन इंजन द्वारा संचालित की गयी थी । जो लगभग 400 यात्रियों को लेकर 14 रेलवे डिब्बे अनुमानिक दोपहर 3:30 बजे बोरीबंदर से एक विशाल भीड़ और जोरदार तालियों के साथ रवाना हुई।

सुविधाजनक रेलगाड़ी

भारतीय रेलवे भारत के यातायात का एक प्रमुख साधन है। रेलगाड़ी के कारण भारत का विकास बहुत तेजी से हुआ। रेलगाड़ी के कारण ही बहुत सारे लोग एक साथ लंबी दूरियां तय करते हैं । रेलगाड़ी बहुत सारे डिब्बों एक साथ खींच सकती है। रेलगाड़ी केवल मात्रा यात्रियों के आवागमन के लिए ही नहीं बल्कि भारी सामानों को ले जाने आने में सुविधाजनक है ।

If you like this post then please share this post with your social media account. We publish news and career-related post on our website. Thank you.

Previous article
Next article
RELATED ARTICLES

Managerial Round Interview Questions

Jagadhatri Puja 2023

Most Popular

close