শনিবার, জুন 15, 2024
HomeUpdateVishnu Ji Ke 108 Naam

Vishnu Ji Ke 108 Naam

Vishnu Ji Ke 108 Naam

विष्णु हिन्दू धर्म के त्रिदेवों में से एक हैं। पुराणिक धार्मिक अनुसार विष्णुजी विश्व के पालक हैं। शास्त्रों में भगवान विष्णु को श्री हरि, नारायण, नर-नारायण आदि अनेक नामों से परिचित किया गया है। कोई भी व्यक्ति जब भी गुरुवार को श्री विष्णुजी के १०८ नामों का भजन करता है, तब उसके मन में और वर्तमान जीवन में कष्ट मुक्ति होती है। विष्णुजी के १०८ नाम हैं।

Vishnu Ji Ke 108 Naam
Vishnu Ji Ke 108 Naam

Lakshmi Ji ki Aarti आरती लक्ष्मी जी की

  1. विश्वम्भरः
  2. विष्णुः
  3. वृषभः
  4. वराहः
  5. वामनः
  6. श्रीधरः
  7. हृषीकेशः
  8. पद्मनाभः
  9. दामोदरः
  10. संकर्षणः
  11. वासुदेवः
  12. प्रद्युम्नः
  13. अनिरुद्धः
  14. पुरुषोत्तमः
  15. अधोक्षजः
  16. नारायणः
  17. पद्मभूतः
  18. अच्युतः
  19. जनार्दनः
  20. उपेंद्रः
  21. हरिः
  22. श्रीमान्
  23. लोकाधिष्ठानं
  24. माधवः
  25. गोविन्दः
  26. विष्णुपतिः
  27. त्रिविक्रमः
  28. श्रीद्गर्भः
  29. धाता
  30. प्रभवः
  31. विभवः
  32. त्रिलोकेशः
  33. केशवः
  34. श्रीधरः
  35. श्रीधरः
  36. पुरुषः
  37. सर्वः
  38. शर्वः
  39. शङ्करः
  40. शङ्करः
  41. विष्णुः
  42. वैकुण्ठः
  43. नारायणः
  44. माधवः
  45. गोविन्दः
  46. माधवः
  47. गोपालः
  48. ध्रुवः
  49. ध्रुवः
  50. धर्मः
  51. कृष्णः
  52. यज्ञः
  53. यज्ञः
  54. प्रजापतिः
  55. पुरुषः
  56. हिरण्यगर्भः
  57. देवः
  58. सर्वः
  59. वृक्षः
  60. वृक्षः
  61. पुष्कराक्षः
  62. महामाया
  63. महामाया
  64. नारायणः
  65. साक्षी
  66. योगेश्वरः
  67. योगेश्वरः
  68. विभावसुः
  69. प्रधानः
  70. नारायणः
  71. पद्मभूतः
  72. पद्मनाभः
  73. नारायणः
  74. सर्वः
  75. जनार्दनः
  76. विष्णुपतिः
  77. विष्णुपतिः
  78. ध्रुवः
  79. ध्रुवः
  80. धर्मः
  81. विश्वरूपः
  82. विश्वरूपः
  83. आदित्यः
  84. पुरुषः
  85. सर्वः
  86. देवेशः
  87. देवेशः
  88. अच्युतः
  89. हरिः
  90. प्रभवः
  91. विभवः
  92. प्रभवः
  93. त्रिविक्रमः
  94. उग्रः
  95. अच्युतः
  96. भगवान्
  97. श्रीमान्
  98. भगवान्
  99. अच्युतः
  100. नारायणः
  101. नारायणः
  102. जगद्गुरुः
  103. अच्युतः
  104. जगद्धाता
  105. जगन्नाथः
  106. जगन्नाथः
  107. अच्युतः
  108. अनन्तः

Vishnu Ji Ke 108 Naam

विष्णु विश्व के सृष्टिकर्ता और संरक्षक हैं। महाविष्णु के चार हाथों में चक्र, गदा, शंख और पद्म होते हैं। वह भगवान राम और भगवान कृष्ण के रूप में भी परिचित हैं। महाभारत में भगवान कृष्ण हिन्दू धर्म के प्रमुख विष्णुरूप माने जाते हैं।

महाविष्णु की लीलाकाहिनी, आचारधारा और साधारण मानसिकता ने हमारे जीवन पर बहुत गुप्तपूर्ण प्रभाव डाला है। उन्होंने लीलाकाहिनी के माध्यम से हमें अपने जीवन की शिक्षा दी है।

If you like this post then please share this post with your social media account. We publish news and career-related post on our website. Thank you.

Previous article
Next article
RELATED ARTICLES

Managerial Round Interview Questions

Jagadhatri Puja 2023

Most Popular

close